बहुजनो के ही नही, डॉक्टर अम्बेडकर विश्व समाज के लिए महान व्यक्ति

डॉक्टर अम्बेडकर


 दलित मसीहा के नाम से जाने जाने वाले बाबासाहेब, न केवल दलित मसीहा थे बल्कि अन्य समाज के भी मसीहा थे।

दलित मसीहा एवं भारतीय समाज के शिल्पकार डॉ. भीमराव अम्बेडकर

बी.आर.अम्बेडकर, वो व्यक्ति थे, जिन्हें आज भी बहुत से लोग पूजते है, उनके बनाये संविधान पर गर्व करते है.बाबा साहेब ने पूरे जीवन काल मे केवल समाज मे दलित उथान एवम समाज के दबे पिछड़े वर्ग को समाज के एक निश्चित स्तर तक लाने के लिए निरन्तर प्रयत्न करते रहे। बाबा साहब के अनेक विरोधियों के होत हुए भी मानवता के लिए अनेक कदम उठाए। उन्होंने मजदूरी का समय तय किया और विशेष अवसरों छुट्टियों का प्रावधान किया जो आज समाज के हरवर्ग के लिए फायदेमंद साबित हो रहा है।

   भारतीय समाज के लिए अर्थव्यवस्था के लिए भारतीय रिजर्व बैंक की आधारशिला भी डॉक्टर आम्बेडकर की ही देना है। 
आम्बेडकर विद्वानों के भी विद्वान थे आज भी कोई भी व्यक्ति इतना पढ़ा लिखा नही है जितना वे पढ़े थे ओर अलग अलग विषय मे डिग्रियां हासिल की थी ।
 बचपन से ही ईमादारी ओर लगन से पढ़ने का ही परिणाम है कि बाबा साहब आम्बेडकर को भारत रत्न जैसी विशिष्ट उपादी से सम्मानित है।
👇ये भी पढ़े:-

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ